बेटी का आना


टिप्पणियाँ

  1. आपकी इस प्रस्तुति की चर्चा 12-10-2017 को चर्चा मंच पर चर्चा - 2755 में दिया जाएगा
    धन्यवाद

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. दिलबाग जी,मेरी रचना को मान देने के लिये बहुत बहुत आभार.

      हटाएं
  2. बहुत ही भावपूर्ण शब्द हैं प्रिय अपर्णा | काश हर कोई बेटी को इसी भावना से गले लगाये !!!!!!!!!!!!


    जवाब देंहटाएं

एक टिप्पणी भेजें

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

आहिस्ता -आहिस्ता

हम सफेदपोश!

मेरे जाने के बाद