Thursday, July 20, 2017

नेतागिरी

इसकी टोपी उसके सिर
उसकी टोपी इसके सिर
कंहा से सीखा ?


अरे क्या कह रहे है भैया !
पुरखों से यही धंधा तो करते आ रहे है

नेतागिरी तो हमारे खून में है .........

2 comments:

#me too

भीतर कौंधती है बिजली, कांप जाता है तन अनायास, दिल की धड़कन लगाती है रेस, और रक्त....जम जाता है, डर बोलता नहीं कहता नहीं, नाचत...