Thursday, July 27, 2017

#Lalu yadav & #Niteesh kumar

#Lalu Yadav

वोट दिये हम तुमको अपनी ,
तुम क्यों धोखा खाये ?
बोलो तो लालू यादव.
तेजस्वी से कहकर तुमने
क्यों न इस्तीफ़ा दिलाया
बोलो तो लालू यादव?
कहा से इतना पैसा आया
क्यों नहीं सबको बताये ?
बोलो तो लालू यादव .
किसका कुर्ता साफ़ यंहा है
कौन न संपत्ति बनाये?
बोलो तो लालू यादव.
सफ़ाई से माल हड़पते
ऐसे दिन क्यों लाये?
बोलो तो लालू यादव .
तेज प्रताप , तेजस्वी के संग
मीसा को भी फन्साये
बोलो तो लालू यादव.

#Niteesh Kumar
दो - दो मोदी के चक्कर में
तुम कबसे थे आये ?
बोलो तो नीतिश भैया.
कल इस्तीफ़ा आज शपथ ली
कब सब सेट कर आये?
बोलो तो नीतिश भैया.
लालू से तुम गले मिले थे
मोदी से हाथ मिलाये
कैसे हुआ नितीश भैया?
तुम कहते हो भ्रष्ट नहीं मै
कैसे बहुमत लाये
बोलो तो नितीश भैया?



2 comments:

  1. बहुत बढ़िया लिखते हे आप

    ReplyDelete
    Replies
    1. जी , प्रेरित करने के लिये शुक्रिया.

      Delete

खरीद -फ़रोख़्त (#Human trafficking)

बिकना मुश्किल नहीं न ही बेचना, मुश्किल है गायब हो जाना, लुभावने वादों और पैसों की खनक खींच लेती है इंसान को बाज़ार में, गांवो...